पाकिस्तान बार्डर पर दानापुर के लाल ने झेल ली थी दुश्मनों की 18 गोलियां, चाइना बॉर्डर पर हुए शहीद

पाकिस्तान बार्डर पर दानापुर के लाल ने झेल ली थी दुश्मनों की 18 गोलियां, चाइना बॉर्डर पर हुए शहीद

By: Anurag Goel
September 07, 03:09
0
...

Patna : भारत-चीन के बीच बढ़ते तनाव के बीच अरुणाचल प्रदेश और चाइना बॉर्डर पर 1800 फ़ीट की ऊंचाई पर तैनात दानापुर के चांदमारी का सपूत नायक सूबेदार यदुनंदन कुमार सिंह शहीद हो गया है। जवान का शव बुधवार की देर शाम चांदमारी स्थित उनके पैतृक गांव पहुंचा जहां स्थानीय गंगा तट पर पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

बताया जा रहा है कि पार्थिव शरीर को देखते ही पूरे गांव में मातम छा गया और स्थानीय लोग शहीद यदुनंदन अमर रहे का नारा लगा रहे थे। नायक सूबेदार यदुनंदन कुमार सिंह के दो बेटे भी सेना में ही हैं और उन्होंने अपने शहीद पिता के शव को देख सलाम किया।
दो सितंबर को भारत-चीन की सीमा पर देश की रक्षा में तैनात बिहार रेजिमेंट के नायक सूबेदार यदुनंदन की ड्यूटी के दौरान अचानक तबीयत खराब होने के कारण शहीद हो गए।


शहीद जवान के पैतृक गांव से उनके पार्थिव शरीर को सेना सम्मान के साथ शाहपुर स्थित गंगा घाट पर लाया गया जहां सेना के अधिकारियों ने सेना सम्मान के साथ अंतिम सलामी दी। सेना के जवानों ने अपनी बंदूकें झुकाकर शहीद को सलामी दी। वहीं पिता नायक सूबेदार यदुनंदन को बड़े पुत्र पंकज ने मुखाग्नि दी।

1998 में कश्मीर में हुए थे गंभीर रूप से घायल
नायक सूबेदार यदुनंदन के छोटे भाई ने बताया कि 1998 में देश की रक्षा के दौरान कश्मीर में तैनात थे और पाकिस्तान बॉर्डर पर आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान उनके शरीर में 18 गोलियां लगी थी। उन्होने बताया कि यदुनंदन के शहादत कि खबर सेना से 3 सितंबर को मिलने के बाद सभी परिजनों को घर बुला लिया गया था।


 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।

comments