एलएस कॉलेज में रैगिंग, सीनियरों ने नए छात्रों को बेल्ट-डंडे से पीटा

एलएस कॉलेज में रैगिंग, सीनियरों ने नए छात्रों को बेल्ट-डंडे से पीटा

By: Kumar Gautam
September 14, 07:09
0
...

PATNA: बड़े शहरों के तर्ज पर अब बिहार में रैगिंग की खबरें सामने आने लगी है। रैंगिक को लेकर मुजफ्फरपुर के प्रतिष्ठित महाविद्यालय एलएस कॉलेज में बुधवार को स्नातक पार्ट वन के एक छात्र की पिटाई हुई। सीनियर छात्रों ने बेल्ट और डंडों से उसकी जमकर पिटाई भी की। पीड़ित छात्र के साथ कॉलेज आये उसके एक अन्य साथी को भी सीनियरों ने भी मारपीट की। रैगिंग के शिकार हुए छात्र के हाथ व सिर में काफी चोट आई है। घटना की सूचना मिलने पर यूजीसी ने गंभीरता दिखाते हुए कॉलेज प्रबंधन को आरोपितों छात्रों पर एफआईआर कराने का निर्देश दिया है। बताते हैं कि घटना के तुरंत बाद पीड़ित छात्र ने यूजीसी के रैगिंग सेल (दिल्ली) में फोन से शिकायत की। सेल के अधिकारी ने मामले में कार्रवाई का आदेश कॉलेज के प्राचार्य डॉ. उपेन्द्र कुंवर को ई-मेल से दिया।

दूसरी तरफ छात्र ने विवि थाने में भी लिखित शिकायत की। विवि थाने की पुलिस एलएस कॉलेज पहुंची, तबतक आरोपित छात्र फरार हो चुके थे। रैगिंग पीड़ित छात्र मुजफ्फरपुर जिले के ही एक प्रखंड का है। उसने दस दिन पूर्व स्नातक पार्ट वन में नामांकन कराया है। वह क्लास रूटीन की जानकारी व आईकार्ड लेने बाइक से कॉलेज आया था। पीड़ित ने विवि थाने को दिये आवेदन में कहा है कि उसे आर्ट्स ब्लॉक के सामने कुछ छात्रों ने रोका। वह नहीं रुका। इसके बाद सबने खदेड़कर पकड़ लिया। कहा कि तुम अभी नामांकन कराये हो, हम जैसा कहें वैसा करो।

विरोध करने पर सबने डंडे व बेल्ट से पिटाई शुरू कर दी। यूजीसी ने कहा, तुरंत एफआईआर कर करें कार्रवाई : यूजीसी के रैगिंग सेल को शिकायत मिलने पर आधे घंटे में यूजीसी की ओर से पहले प्राचार्य को फोन कर कार्रवाई का आदेश दिया गया। फिर यूजीसी की ओर से ईमेल कर मामले में तुरंत एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई करने को कहा गया। यूजीसी के ईमेल में कहा गया है कि छात्र ने मानसिक व शारीरिक हरासमेंट की बात कही है। यूजीसी ने छात्र का नाम सार्वजनिक नहीं करने का भी निर्देश दिया है। बयान स्नातक पार्ट-वन के छात्र के साथ रैगिंग की घटना हुई है। हॉस्टल के छात्रों के घटना में शामिल होने की शिकायत मिली है। यूजीसी ने एफआईआर करते हुए कार्रवाई का आदेश दिया है। कॉलेज के एंटी रैगिंग सेल से जांच शुरू कराई जा रही है। कॉलेज स्तर पर जल्द ही मामले में कार्रवाई होगी।  

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments