अब साइबर अपराधी नहीं बना पाएंगे किसी बिहारी को अपना शिकार, अफसरों को दी जा रही ट्रेनिंग 

अब साइबर अपराधी नहीं बना पाएंगे किसी बिहारी को अपना शिकार, अफसरों को दी जा रही ट्रेनिंग 

By: Sudakar Singh
January 12, 01:01
0
..............

Live Bihar Desk : राज्य में साइबर अपराध के बढ़ते ग्राफ के बीच उससे निपटने के लिए पुलिस भी कमर कस रही है। इसी कड़ी में साइबर क्राइम को लेकर पुलिस अफसरों को ट्रेंड किया जाएगा। इसके लिए बिहार पुलिस आैर सीडैक (सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस कंप्यूटिंग) के बीच करार हुआ है। ईओयू (आर्थिक अपराध इकाई) भी अहम रोल निभाएगी। 


पुलिस अफसरों के लिए कुल 56 घंटे का ट्रेनिंग कोर्स होगा। इसमें साइबर अपराध के अनुसंधान व फोरेंसिक पहलू पर फोकस होगा। अहम पहलू यह भी है कि पुणे, कोच्चि व अन्य राज्यों के विभिन्न संस्थानों से जुड़े साइबर एक्सपर्ट भी ट्रेनर के रूप में बिहार पुलिस अफसरों को साइबर अपराध की रोकथाम या अपराधियों की पहचान करने के गुर सिखाएंगे। फिलहाल ईओयू में साइबर सेल कार्यरत है।

आने वाले दिनों में इसे साइबर सेल का मुख्यालय बनाते हुए हर जिला मुख्यालय के स्तर पर पुलिस का साइबर सेल शुरु करने की योजना अंतिम चरण में है। इसके लिए कंप्यूटर व अन्य आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराए जा रहे हैं।  
कुल 40 अफसरों को ट्रेनिंग मिलेगी। इसमें हर जिले के एक-एक अफसर शामिल होंगे। यहां से ट्रेनिंग लेने के बाद ट्रेंड अफसर अपने जिलों में अन्य अफसरों को साइबर अपराध से अनुसंधान व अन्य पहलुओं की जानकारी देंगे। इन्हीं ट्रेंड अफसरों को जिला स्तर पर गठित होने वाले साइबर सेल में तैनात किया जाएगा।  

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments