वोट मांगते समय नीतीश को नहीं आया शुचिता का ख्याल, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ता रहूंगा- शरद

वोट मांगते समय नीतीश को नहीं आया शुचिता का ख्याल, भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ता रहूंगा- शरद

By: Sudakar Singh
September 13, 12:09
0
अभी-अभीः.....

Live Bihar Desk : जनता दल यूनाइटेड (JDU) पार्टी पर दावे को चुनाव आयोग द्वार खारिज करने के बाद शरद यादव ने कहा कि उनकी भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रहेगी। वह भ्रष्टाचार के खिलाफ जिंदगी भर लड़ते रहेंगे। उन्होंने कहा कि उनकी राजनीति ही भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुई थी।


उन्होंने बिहार में महागठबंधन टूटने को लेकर कहा कि लालू यादव महागठबंधन करने को तैयार नहीं थे। मेरे कहने के बाद उन्होंने महागठबंधन किया। महागठबंधन का अपना मैनोफेस्टो था। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि जब वे चुनाव में महागठबंधन के लिए वोट मांग रहे थे तब उन्हें लालू यादव पर क्या मामले चल रहे हैं इसकी जानकारी नहीं थी। वोट मांगते समय उन्हें (नीतीश) शुचिता का ख्याल नहीं आया।


राज्यसभा द्वार नोटिश मिलने को लेकर उन्होंने कहा कि नोटिस मिला है। नोटिस का जवाब दिया जाएगा। हमारे वकील जवाब देंगे। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने सिंबर खारिज नहीं किया है।
गौरतलब है कि जदयू के बागी नेता शरद यादव के 'असली' जदयू होने के दावे वाली याचिका को चुनाव आयोग ने मंगलवार को खारिज कर दिया। इस संबंध में चुनाव आयोग का कहना है कि शरद यादव अपने दावे के पक्ष में कागजात या दस्तावेज उपलब्ध नहीं करा सके, जिससे माना जा सके कि वह जिसे 'असली' जदयू मानते हैं, वही 'असली' है और उन्हें ही पार्टी का चुनाव चिह्न आवंटित किया जाना चाहिए।


आयोग के इस निर्णय से स्पष्ट हो गया है कि नीतीश कुमार गुट ही 'असली' जदयू है। वहीं, पार्टी सूत्रों के मुताबिक, जदयू अब राज्यसभा के सभापति के पास जायेगा और शरद यादव की राज्यसभा सदस्यता को खत्म करने के लिए पार्टी के पक्ष में चुनाव आयोग के फैसले की प्रति सौंपेगा।

 

हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए के फ़ेसबुक पेज को लाइक करें।
comments